Namrdi ka Ilaj

सैक्स समस्या

Namrdi ka Ilaj

नामर्दी का ईलाज सर्वसृष्ट डॉक्टर से जाने | Namrdi ka Ilaj Servsrasth Doctor se Jane


जब किसी पुरुष को यौन संभोग के पहले या दौरान तनाव बनाये रखने या तनाव आने में समस्या आती हैं तो उसे ही नामर्दी (Namardi) की समस्या कहते हैं। ईडी का परिणाम हृदय रोग जैसी अंतरहीन स्वास्थ्य समस्या के कारण हो सकता है, इस प्रकार समस्या के साथ जल्द से जल्द डाक्टर से चर्चा की जानी चाहियें।
Jab kisi purush ko yaun sabandh banaane ya ke pahale ya baad mein sambhog ke dauraan tanaav ko banaaye rakhane ya tanaav ke na aane mein samasya aati hain to use hi Namardi ki samasya kahate hain. Namardi ka parinaam hrday rog jaise antaraheen svaasthy samasya ke kaaran bhee ho sakata hai, is prakaar samasya ke samaadhaan ke liye jaldee se jaldee Doctor se ilaaj karaana chaahiyen.

नामर्दी का ईलाज क्या है?

Namardi ka ilaj Kya hai
समस्या के कारणों और सीमा के अनुसार डाक्टर एक प्रकार के उपचार की सिफारिश करेगा जिसमेें मौखिक दवा, लिंग पंप, लिंग इम्पलाटेशन और यहाँ तक की सर्जरी भी शामिल है पर आप एलौपैथिक ईलाज से बचें । आयुर्वेद अपनायें क्योंकि यह आपको अनावश्यक सर्जरी व अनावश्यक दवाओं के सेवन से बचायेगा जिनके अनगिनत दुष्प्रभाव हैं। आयुर्वेद द्वारा आप अपनी म्ण्क्ण् की समस्या का स्थाई समाधान कर पायेगें।
Samasya ke kaaranon aur seema ke anusaar Doctor ek prakaar ke upachaar ki siphaarish karega jis Main maukhik dava, ling pamp, ling impalaateshan aur yahaan tak ki Surgery bhi shaamil hai par aap elaupaithik eelaaj se bachen . aayurved apanaayen kyonki yah aapako anaavashyak Surgery va anaavashyak davaon ke sevan se bachaayega jinake anaginat dushprabhaav hain. aayurved dvaara aap apanee naamardi ki samasya ka sthaee samaadhaan kar paayegen.

नामर्दी का आयुर्वेदिक ईलाज कैसे किया जाता हैं?

Namardi ka Ayurvedic Ilaj kaise kiya jata hai
राकृति में अनेको ऐसी जडी बूटियाँ हैं जोकि नामर्दी की समस्या को खत्म करने में सक्षम है जैसे कि अश्वगंधा, शतावर, शिलाजीत, सफेद मूसली, केसर, मकरध्वज आदि । आयुर्वेदाचार्य डा0 शेख ने अपने अनुभव से इन सभी बहुमुल्य जडी बुटियों को एक सही अनुपात एवं तापमान में मिलाकर एस.एस. पाऊडर और गदर फोर्ट कैप्सूल का निर्माण किया है। इनके सेवन से कुछ ही दिनों में पुरुषों को तनाव आने लगता है। अगर आप इनका निश्चित अवधि तक नियमित सेवन करें तो ईडी की समस्या का खत्म होना निश्चित है।
Praakrti mein aneko aisee jadee bootiyaan hain joki Namardi ki samasya ko khatm karane mein saksham hai jaise ki ashvagandha, shataavar, shilaajeet, safed musali, kesar, makaradhvaj aadi. aayurvedaachaary Dr. Sheikh ne apane anubhav se in sabhee bahumuly jadee butiyon ko ek sahi anupaat evan taapamaan mein milaakar S.S.Powder aur Gadar Forte Capsule ka nirmaan kiya hai. inake sevan se kuchh hi dino mein purushon ko tanaav aane lagata hai. agar aap inaka nishchit avadhi tak niyamit sevan karen to Namardi ki samasya ka khatm hona nishchit hai.

क्या कोई भी दुष्प्रभाव है

kya koi bhi Dushprabhaav hai ?
नामर्दी के लिये उपचार दो तरह के हैं एलोपैथिक और आयुर्वेदिक। एलोपैथिक उपचार के दुष्प्रभाव हो सकते है जैसे की मौखिक दवा से सिरदर्द, पीठदर्द, दुष्टि और पेट की समस्याओं में परिवर्तन हो सकता है। आत्म-इंजेक्शन के परिणामस्वरुप उस क्षेत्र के आसपास दर्द हो सकता है जहाँ सुई इजेक्शन, रक्त स्त्राव और इंजेक्शन वाले क्ष़्ोत्र के चारो और रेशेदार ऊतक के विकास का परिणाम हो। म्यूजिक थैरेपी के दुष्परिणाम में मामूली रक्त स्त्राव, दर्द और रेशेदार ऊतक गठन षमिल है। ईडी के ईलाज के रुप में सर्जरी बहुत दुर्लभ है और संक्रमण जैसी गंभीर जटिलताओं को कारण बन सकता है। आयुर्वेदिक ईलाज प्राकृतिक जडी बूटियों द्वारा किया जाता है और यह सर्व मान्य है कि आयुर्वेदा के दुष्परिणाम नहीं है।
Namardi ke liye upachaar do tarah ke hain elopaithik aur aayurvedik. elopaithik upachaar ke dushprabhaav ho sakate hai jaise kee maukhik dava se Sirdard, Kamardard, dushti aur pet ki samasyaon mein parivartan ho sakata hai. aatm-injekshan ke parinaamasvarup us kshetr ke aasapaas dard ho sakata hai jahaan sui Injection, rakt straav aur injection Wale kshetr ke chaaro aur reshedaar ootak ke vikaas ka parinaam ho. myoojik thairepee ke dushparinaam mein maamoolee rakt straav, dard aur reshedaar ootak gathan shamil hai. Namardi ke Illaj ke rup mein sarjaree bahut durlabh hai aur sankraman jaisee gambheer jatilataon ko kaaran ban sakata hai. aayurvedik eelaaj praakrtik jadee bootiyon dvaara kiya jaata hai aur yah sarv maany hai ki aayurveda ke dushparinaam nahin hai.

उपचार के दिशा निर्देश क्या है

Upachaar ke disha nirdesh kya hai?
उपचार के साथ कुछ परहेज भी अति आवश्यक हैं |Upachaar ke saath kuchh parahej bhi ati aavashyak hain

1. खटटे फलो व भोजन का परहेज करें |Khatate phalo va bhojan ka parahej karen
2. तला भोजन न करें। Tala bhojan na karen
3. ध्रुमपान, शराब एवं किसी भी नशीले प्रदार्थ का सेवन न करें। Smoking, Drinking evan kisi bhi nasheele pradaarth ka sevan na karen

रोगियों की जीवन शैली में बदलाव होने जरुरी है। इसमें एक संतुलित आहार और नियमित व्यायाम शामिल हैं।
Rogiyon kay jeevan shaily mein badalaav hone jaruri hai. isamen ek santulit aahaar aur niyamit vyaayaam shaamil hain.

ठीक होने में कितना समय लगता है

Theek hone mein kitana samay lagata hai ?
नामर्दी का उपचार एस. एस. पाऊडर व गदर फोर्ट कैप्सूल द्वारा होता है । जिसके कुछ निर्धारित दिशा निर्देश हैं। इसके लिये उपरोक्त दिये परहेज अति आवश्यक है। इनके बिना ईलाज कराने का कोई फायदा नहीं है। अगर आप सुबह व शाम खाने के बाद एक चम्मच एस.एस. पाऊडर दुध में मिला कर उसके साथ एक एक गदर फोर्ट कैप्सूल लेते हैं तो सामान्य परिस्थितियों में 10 दिन के अन्दर आपको फायदा दिखने लगेगा और 2 महीने में आपको आराम हो जायेगा।
Namardi ka upachaar S.S.Powder or Gadar Forte Capsules dvaara hota hai. jisake kuchh nirdhaarit disha nirdesh hain. isake liye uparokt diye parahej ati aavashyak hai. inake bina Illaj karaane ka koi phaayada nahin hai. agar aap subah va shaam khaane ke baad ek chammach S.S. Powder dudh mein mila kar usake saath ek ek Gadar Forte Capsules lete hain to saamaany paristhitiyon mein 10 din ke andar aapako phaayada dikhane lagega aur 2 maheene mein aapako aaraam ho jaayega.

ईलाज की कीमत क्या है

Ilaj ki keemat kya hai?
S.S. Powder व Gadar Forte Capsule नामर्दी के अचूक ईलाज हैं। इन्हें विश्व प्रसिद्व डा0 शेख ने अपने 40 साल के सफल ईलाजों के अनुभव से बनाया है। एक एस. एस. पाऊडर की कीमत 1200 रुपये है। जोकि 15 दिन की खुराक है। एक गदर फोर्ट कैप्सूल की कीमत 20 रुपये है।
S.S. Powder Or Gadar Forte Capsules Namardi ke achook illaaj hain. inhen vishv prasidv Dr. Sheikh ne apane 40 saal ke saphal eelaajon ke anubhav se banaaya hai. ek S.S. Powder ki keemat 1200 rupaye hai. joki 15 din ki khuraak hai. ek Gadar Forte Capsule ki keemat 20 rupaye hai.

क्या उपचार के परिणाम स्थायी है

Kya upachaar ke parinaam sthaayee hai?
आयुर्वेद का प्रथम लक्ष्य बीमारी को जड से खत्म करना होता है। यह एलोपैथी की तरह एक दो दिन में आराम नही करता आयुर्वेद के ईलाज में समय लगता है पर ये समस्या की जड तक पहँच कर उसका स्थाई समाधान करता है। इसी प्रकार से एस.एस. पाऊडर व गदर फोर्ट कैप्सूल के परिणाम स्थाई हैं।
Aayurved ka pratham lakshy beemaaree ko jad se khatm karana hota hai. yah elopaithee kee tarah ek do din mein aaraam nahee karata aayurved ke Illaj mein samay lagata hai par ye samasya ki jad tak pahanch kar usaka sthaee samaadhaan karata hai. isi prakaar se S.S. Powder or Gadar Forte Capsule ke parinaam sthaee hain.

उम्मीद करते हैं कि आप हमारी बात समझ पायें होगें अगर अभी भी कोई शंका हैं तों हमारी भी हेल्प लाईन 9050205100 पर काॅल करें आपकी पूरी सहायता की जायेगी

 Enquiry Now Whatsapp  Call Now