मोटापा | Obesity

अन्य बीमारी

मोटापे का ईलाज

मोटापे का ईलाज का आयुर्वेदिक उपाय


मोटापा किसी के लिये भी परेषानी और षर्मिन्दगी का सबब बन जाता है। कोई भी नही चाहता की उसका थुलथुल ढीला भारी भरकम षरीर हो । यह आपके पूरी पर्सनलिटी की रौनक खत्म कर देता है। ज्यादा मोटापा सिर्फ सुन्दरता ही कम नही करता बल्कि षरीर को बिमारियों का घर बना देता है। एक अच्छी पर्सनिल्टी की पहचान स्वास्थ षरीर से होती है। बिजी लाइफ स्टाईल के चलते आजकल लोग अपनी फिटनेस का घ्यान नही दे पाते । पर आप अपने काम में तभी परफेक्ट हो पायेगें जब आपका स्वास्थ्य अच्छा और आप फिट होगें। ऐसे मे लोग वजन कम करने के लिए धंटो जिम में पसीना बहाते है, डायटिंग करते है, कई बार दवाईयाँ भी लेते है, जबकि मोटापा कम करने के लिये इतना कुछ करने की जरुरत नहीं होती हैं आप अपने पेट को कम करने के लिये जरुरी है की आप सही डाईट चार्ट फालो करें

डाइट चार्ट में इस बात का ध्यान रखा गया है कि आपको जरुरी विटामिन और मिनरल मिलते रहे। वैसे जरुरी नही की हर व्यक्ति पर यह पमरी तरह लागू होगा । हाँलाकि आप इसमंे थोडा फेरबदल भी कर सकते है।

जब आप वजन कम करना षुरु करते हैं तो आमतौर पर सभी लोगों का वजन दो चार किलो कम हो जाता है, मगर बाद मे फैट कम नही होता । इसलिये अपना डाईट चार्ट पहले के मुकाबले ज्यादा र्हाउ बनाना होता है। वजन घटाने के लिये इस डाईट चार्ट को आप आजमाकर देखें फर्क जरुर पडेगा।
वेसे तो हर व्यक्ति की षरीरिक संरचना और उसके द्वारा की जाने वाली मेहनत के हिसाब से खान-पान की आवष्यकता अलग अलग होती है। इसके लिये बेहतर होगा बीएमआर निकाला जाये जो यह बतायेगा की षरीर को कम से कम कितनी कैलोरी की आवष्यकता है।

षरीर का वजन कम करने के लिए कम कैलोरी लेनी चाहियेे और इसके लिये ब्लेसंड डाइट चार्ट बनाया जाना जरुरी होता है। दिमाग सुचारु रुप से कम करे और षरीर थकें नहीं, इन बातोें को ध्यान में रखते हुये 1200 से 1800 कैलारी की आवष्यकता होती है। इतनी कैलोरी उर्जा के रुप में षरीर में बेहतर ढंग से संचरित हो जाती है जो की फेट के रुप में नही जमती ।
तीन मुख्य भोजन, जैसे नाष्ता, दोपहर का खाना और रात का खाना 300 से 500 कैलोरी का रखें
बाकी बचें 300 कैलोरी में स्नैक्स तथा अन्य चीजों का रखें ।
बेवरेज के तौर पर ग्रीन टी अपनायें। ग्रीन टी वजन कम करने में सहायक हैं।
जो भी खाना खायें, सभी गेहुं से बना हो या ब्राऊन चावल हो । मैदा या सफेद चावल न खायें।

मोटापे का आयुर्वेदिक ईलाज कैसे किया जाता हैं ?

प्राकृति में अनेको ऐसी जडी बूटियाँ हैं जोकि मोटापे की समस्या को खत्म करने में सक्षम है जैसे कि अष्वगंधा, बिदारी खण्ड, त्रिफला, कौच बीज, गौखरु, आंवला, लौहभस्म, विजया तालमाखना, ढाक की गोंद, चीनी । एफ कटर पाऊडर इन्ही जडी बुटियों का अदभूत संगम है। इसके सेवन के 7 दिन के अंतराल में ही मोटापा कम हो जाता है।

क्या कोई भी दुश्प्रभाव है ?

मोटापे के लिये उपचार दो तरह के हैं एलोपैथिक और आयुर्वेदिक। एलोपैथिक उपचार के दुष्प्रभाव हो सकते है जैसे की मौखिक दवा से थकान, साँस फूलना, थोडा काम करने पर थकावट होना, आलस व काम में मन न लगना आदि समस्याओं में परिवर्तन हो सकता है। आयुर्वेदिक ईलाज प्राकृतिक जडी बूटियों द्वारा किया जाता है और यह सर्व मान्य है कि आयुर्वेदा के दुश्परिणाम नहीं है।

उपचार के दिषा निर्देष क्या है ?

उपचार के साथ कुछ परहेज भी अति आवष्यक हैं
1. तला व आपच्य भोजन न करें।
2. फलो व हरी सब्जियों का नियमित सेवन करें।
3. ध्रुमपान, षराब एवं किसी भी नषीले प्रदार्थ का सेवन न करें।
4. नियमित व्यायाम करें
5. सुबह की सैर जरुर करें व साईकिल अवष्य चलायें

रोगियों की जीवन षैली में बदलाव होने जरुरी है। इसमें एक संतुलित आहार और नियमित व्यायाम षामिल हैं।

ठीक होने में कितना समय लगता है ?

मोटापे का उपचार एफ कटर पाऊडर से किया जाता है ।
इसके लिये उपरोक्त दिये परहेज अति आवष्यक है। इनके बिना ईलाज कराने का कोई फायदा नहीं है।
अगर आप सुबह व षाम खाना खाने के बाद एक चम्मच पानी के साथ ले 7 दिन में ही फर्क दिख जायेगा 4 महीने का कोर्स करने पर आपका वजन सामान्य हो जायेगा।

ईलाज की कीमत क्या है ?

एफ कटर पाऊडर मोटापे का रामबाण ईलाज हैं। यह डा0 षेख के 40 साल के सफल अनुभव का निचोड है। एफ कटर पाऊडर की कीमत 1200 रुपये है। जोकि 30 दिन की खुराक है।

क्या उपचार के परिणाम स्थायी है ?

मोटापा आलस और अनियमित खान-पान की वजह से होता है । एफ कटर पाऊडर आपके बढे हुये वजन को सामान्य कर देता है। अगर आप चाहते हैं की आपका वतन दुवारा न बढे तो आपको उपरोक्त दिये हूये परहेज नियमित करने होगें साथ् ही दिनचर्या में व्यायाम को भी षामिल करना अति आवष्यक है तभी इसके परिणाम स्थाई होगें ।

उम्मीद करते हैं कि आप हमारी बात समझ पायें होगें अगर अभी भी कोई षंका हैं तों हमारी भी हेल्प लाईन पर काॅल करें आपकी पूरी सहायता की जायेगी


 Enquiry Now Whatsapp  Call Now